ग्वांगडोंग हैप्पी 10

ग्वांगडोंग हैप्पी 10

time:2021-10-21 18:50:22 फ्रैंकलिन टेंपलटन की छह बंद योजनाओं को मिले 15,776 करोड़ रुपये Views:4591

lovebet 2 गोल्स दे वेंटजा ग्वांगडोंग हैप्पी 10 betway जैकपॉट पिक 5,fun88 वीआईपी,lovebet 500 फ्री बेट,lovebet भारत में कानूनी है,lovebet टीएनटीएफ,३० से १ बैकारेट,बैकरेट बैंकर को कानून जीतना चाहिए,बैकारेट खेलने की रणनीति,पांच अर्थों में सर्वश्रेष्ठ,बीविन लाइव रूले एरफह्रुंगेन,कैसीनो फिल्म कास्ट,शतरंज जे. हौस्का,क्रिकेट चर्चा लाइव,क्रिकेटर ओ थॉमस,यूरोपीय कप फुटबॉल बेबी,फुटबॉल नकद खाता खोलना,जुआ बेकरेट नहीं जीत सकता,खुश किसान संगीत पत्र,क्रिकेट के बल्ले में,जैकपॉट कैसीनो,बड़ा गेमिंग रणनीति मंच,लाइव गेम डाउनलोड,लॉटरी मील,एम खेल पैकेज,ऑनलाइन कैसीनो डेमो,ऑनलाइन गेम वेबसाइट,ऑनलाइन स्लॉट पा,पोकर 4 अक्षर के शब्द,पोकर यूट्यूब 2021,रूले प्रश्नोत्तरी अमेज़न,रम्मी गुरु,एस स्पोर्ट्स कार,स्लॉट बचे हैं,खेल से सम्बंधित शब्द,तीन पत्ती लाइव गेम,लॉटरी शर्ली जैक्सन,आभासी क्रिकेट मशीन,वाइल्डज़ xl,QQ स्कोर लॉटरी,करुणा तोर मया जिंदाबाद,क्ष् जससक जोकर स्टेटस,जैकपॉट गेम,पोकर खरगोश,बरसाना धाम,रियल मनी बैकरेट,स्टेटस भगवान के, .फ्रैंकलिन टेंपलटन की छह बंद योजनाओं को मिले 15,776 करोड़ रुपये

फंड हाउस ने 23 अप्रैल को छह डेट म्यूचुअल फंड योजनाओं को बंद कर दिया था. इन आधा दर्जन फंडों का एसेट अंडर मैनेजमेंट करीब 25,000 करोड़ रुपये का था.
नई दिल्ली: फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से मैच्योरिटी, पूर्व भुगतान और कूपन भुगतान से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.

फंड हाउस ने 23 अप्रैल को छह डेट म्यूचुअल फंड योजनाओं को बंद कर दिया था. इसके लिए डेट बाजार में लिक्विडिटी की कमी तथा लोगों द्वारा निकासी के दबाव का हवाला दिया गया था. इन आधा दर्जन फंडों का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) करीब 25,000 करोड़ रुपये का था.

ये योजनाएं 'फ्रैंकलिन इंडिया लो ड्यूरेशन फंड, फ्रैंकलिन इंडिया डायनेमिक एक्यूरल फंड, फ्रैंकलिन इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड, फ्रैंकलिन इंडिया शॉर्ट टर्म इनकम प्लान, फ्रैंकलिन इंडिया अल्ट्रा शॉर्ट बॉन्ड फंड और फ्रैंकलिन इंडिया इनकम अपर्चुनिटीज फंड' हैं.

इसे भी पढ़ें: इनकम टैक्स भरने के लिए जारी हुआ नया आईटीआर फॉर्म, जानिए क्या हैं बदलाव

कंपनी ने अपने बयान में कहा, "छह योजनाओं को 31 मार्च, 2021 तक कुल 15,776 करोड़ रुपये का नकदी मिली है." इस साल 31 मार्च को समाप्त हुए पखवाड़े में इन योजनाओं को 505 करोड़ रुपये मिले हैं.

फंड हाउस ने कहा कि फ्रैंकलिन इंडिया इनकम ऑपर्चुनिटीज फंड ने अपने सभी बकाया उधारी को चुका दिया है. इस तरह अब सभी छह योजनाएं नकदी के हिसाब से सकारात्मक हो गई हैं और इनके पास 1,370 करोड़ रुपये का फंड बचा हुआ है.




हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

फ्रैंकलिन टेंमपलटन म्यूचुअल फंडफ्रैंकलिन टेंमपलटन डेट म्यूचुअल फंडसेबीशेयर बाजारफ्रैंकलिन टेंमपलटनम्यूचुअल फंड्सफ्रैंकलिन टेंमपलटन डेट फंडफ्रैंकलिन टेंमपलटन की बंद स्कीमें

ETPrime stories of the day

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read

एनपीएस अकाउंट खोलते वक्त सब्सक्राइबर्स को विकल्प दिया जाता है. वे चाहें तो विभिन्न एसेट क्लास में खुद पैसा लगाएं. या फिर ऑटो च्‍वाइस ऑप्शन चुनें.फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) का इस्तेमाल होता है. इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है.वैलेंटाइन डे पर पुरुष ज्यादा खर्च करते हैं या महिलाएं?

क्‍या इस वैलेंटाइन डे पर अपने पाटर्नर को खुश करने के लिए आपने गिफ्ट सेलेक्‍ट कर लिया है? नहीं, तो यहां हम आपको ट्रेडिशनल गिफ्ट से अलग हटकर कुछ ऐसे तोहफों के बारे में बता रहे हैं जो शायद आपके साथी को खूब पसंद आए.अपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है.मनी मार्केट म्यूचुअल फंडों के बारे में ये 5 बातें जान लें, होगा फायदा

साल 2020 पूरी तरह के कोरोना वायरस महामारी के नाम रहा. इसकी वजह से न सिर्फ दुनिया में आर्थिक मंदी का खतरा बढ़ गया, मगर कई इंडस्ट्रीज में सुस्ती का माहौल भी छा गया. इसमें ऑटो सेक्टर भी अछूता नहीं रहा.हालांकि, इस साल कई दिग्गज कार कंपनियों ने एक-के-बाद-एक बेहतरीन और शानदार कार और बाइक्स मार्केट में उतारी. सुपरफास्ट इंजन, आकर्षक लुक्स और महंगे दाम वाली कई कार और बाइक ने बाजार को अपना दिवाना बनाया. जानिए इस साल सड़कों पर उतरी कौनसे लग्जरी वाहन:विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता हैमुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
ऑनलाइन पैसे बनाएं rajasthan

फरवरी 2021 में टीकेएम ने 14,075 वाहनों की बिक्री की थी. इस तरह घरेलू बाजार में उसने फरवरी 2020 के मुकाबले 36 फीसदी ग्रोथ दर्ज की थी.

लॉटरी द पिक

विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता है

lovebet4.5/5

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.

जोकर मोबाइल

ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.

नवीनतम फुटबॉल समाचार

महिंद्रा एंड महिंद्रा ने शुक्रवार को संकेत दिए कि कमोडिटी के कीमतों में आई तेजी के चलते आने वाले कुछ महीनों में वह अपने वाहनों की कीमत बढ़ा सकती है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी