क्या बैकारेट के बारे में कोई किताब है?

क्या बैकारेट के बारे में कोई किताब है?

time:2021-10-21 20:38:22 सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट Views:4591

जंगल रम्मी tncs क्या बैकारेट के बारे में कोई किताब है? 188bet जापान बेसबॉल,casumo टिलिन वर्मेनस,lovebet 100 यूरो बोनस,lovebet स्पेन,lovebet क्यू,lovebet9ja वीआईपी आज,बा पोकर,बैकरेट परिचय,बैकारेट की आधिकारिक वेबसाइट,बेटिंग वेबसाइट टेम्पलेट,कैसीनो गंतव्यों,कनेक्टिकट में कैसीनो,एक लवबेट खाता बनाएं,क्रिकेट प्रश्नोत्तरी प्रश्न,ई-स्पोर्ट्स ग्रुप ने ओमेगा एमटीएल को लाड़ प्यार किया,मछली पकड़ने की भीड़ वीडियो गेम,फुटबॉल ट्राई,ग्लोबल गेमिंग इनसाइक्लोपीडिया,बैकारेट में स्थिर लाभ कैसे अर्जित करें,आईपीएल जीराम,जंगल रम्मी कस्टमर केयर नंबर,लाइव कैसीनो होटल के कमरे,लॉटरी बाजार,लूडो हैकिंग,ओ क्रिकेट फोई क्रिआडो ओन्डे,अच्छी प्रतिष्ठा के साथ ऑनलाइन गेम बैकरेट ऑनलाइन,पैसे के साथ ऑनलाइन पोकर,पैरामैच ट्रिक्स,पोकर ऑनलाइन मुफ्त,री कैसीनो,नियम यूट्यूब,रम्मीकल्चर ईमेल,यूट्यूब पर स्लॉट मशीन वीडियो,स्पोर्ट्स चैनल की कीमत,स्पोर्ट्सबुक वायर,टेक्सास होल्डम एक्सबॉक्स वन,यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल फ्लॉप रणनीति,कौन सी बेटिंग साइट ट्राई कर सकती है,10 क्रिक,ऑनलाइन नकद जुआ,क्रिकेट इंडिया,गोवा ब्रिज,तीन पत्ती न्यू गेम,बकरी ऊंट,बैकारेट png,स्टारबर्स्ट, .सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट

बेंगलुरु और हैदराबाद में यह आंकड़ा 5 फीसदी से भी कम है. वहीं, मुंबई और दिल्‍ली-एनसीआर में यह संख्‍या 20 फीसदी से ज्‍यादा है.
बेंगलुरु : मार्च में सामान्‍य स्‍तर से नवंबर के अंत तक सिर्फ 10 फीसदी कर्मचारी ऑफिस लौटे थे. वर्कइनसिंक के आंकड़ों से इसका पता चलता है. यह कंपनियों को टेक सॉल्‍यूशन उपलब्‍ध कराती है. बेंगलुरु और हैदराबाद में यह आंकड़ा 5 फीसदी से भी कम है. वहीं, मुंबई और दिल्‍ली-एनसीआर में यह संख्‍या 20 फीसदी से ज्‍यादा है.

फार्मा, आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर के कर्मचारी अधिक रफ्तार से ऑफिस लौट रहे हैं. इनमें यह रेट 16 फीसदी से 27 फीसदी तक है. वहीं, शुद्ध सॉफ्टवेयर प्रोडक्‍ट कंपनियों में यह रेट सिर्फ 3 फीसदी है. इंफोसिस, विप्रो और टीसीएस जैसी कंपनियों में कुल कर्मचारियों में से केवल 5 फीसदी ऑफिस से काम कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : क्‍या आप एमबीए करना चाहते हैं? ये 6 बातें करेंगी आपकी मदद

master

महानगरों में यह आंकड़ा 10 फीसदी है. वहीं, बाकी के देश में 20 फीसदी. आंकड़ों से यह भी पता चलता है कि पुरुषों के मुकाबले महिला कर्मचारी ऑफिस लौटने में अधिक तत्‍पर हैं.

इसे भी पढ़ें : कार खरीदने के लिए आसानी से मिलेगा लोन, मारुति सुजुकी ने शुरू की यह नई सुविधा

वर्कइनसिंक के सीईओ दीपेश अग्रवाल ने कहा कि अगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है. वहीं, सितंबर तक इसके 80 फीसदी तक पहुंचने के आसार हैं. सब कुछ काेराेना की वैक्‍सीन आने पर निर्भर करेगा.

उन्‍होंने कहा कि अनलॉक के दूसरे चरण से कर्मचारियों ने ऑफिस लौटना शुरू किया है. लेकिन, जिस तरह से उनकी वापसी हुई है, वह पहले की तुलना में काफी अलग है. अगले कुछ महीनों में ज्‍यादा कर्मचारी ऑफिस से काम करेंगे.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

ऑफिस वापसीवर्कइनसिंकबेंगलुरुर‍िपोर्टकोरोना वैक्‍सीनहैदराबाद

ETPrime stories of the day

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’
Strategy

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’

8 mins read
Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle
Aviation

Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle

10 mins read
Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.
Banking

Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.

15 mins read

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने बृहस्पतिवार को कहा कि उच्चतम न्यायालय ने कंपनी की 4,000 करोड़ रुपये की इक्विटी पूंजी जुटाने की योजना से जुड़े मामले में प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) के आदेश के खिलाफ दायर सेबी की याचिका को "गैरजरूरी" बताते हुए खारिज कर दिया है। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने कहा कि पिछले हफ्ते उसके निदेशक मंडल ने "तरजीही मुद्दे पर आगे नहीं बढ़ने और प्रस्तावित आवंटियों के साथ कार्यान्वित शेयर सदस्यता समझौते को उनकी संबंधित शर्तों के अनुसार समाप्त करने का फैसला किया था।"इसके साथ ही भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा प्रतिभूति अपीलीयदेश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं.टीसीएस ने छह महीनों में दूसरी बढ़ाई सैलरी, जानिए क्या है वजह?

भारतीय शहरों में करीब 15 फीसदी कंपनियों की फरवरी से अप्रैल 2021 के बीच फ्रेशर्स को भर्ती करने की योजना है. लर्निंग सॉल्‍यूशंस फर्म टीम लीज एडटेक के सर्वे से इसका पता चलता है. टीमलीज एडटेक के सीईओ शांतनु रूज ने कहा कि कोरोना की महामारी के बावजूद कंपनियों के एजेंडे में फ्रेशर्स की हायरिंग है.भारतीय शहरों में करीब 15 फीसदी कंपनियों की फरवरी से अप्रैल 2021 के बीच फ्रेशर्स को भर्ती करने की योजना है. लर्निंग सॉल्‍यूशंस फर्म टीम लीज एडटेक के सर्वे से इसका पता चलता है. टीमलीज एडटेक के सीईओ शांतनु रूज ने कहा कि कोरोना की महामारी के बावजूद कंपनियों के एजेंडे में फ्रेशर्स की हायरिंग है.टीसीएस ने छह महीनों में दूसरी बढ़ाई सैलरी, जानिए क्या है वजह?

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बृहस्पतिवार को 35 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की गयी जिसके साथ देश भर में ईंधन की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गयीं। ईंधन की कीमतों में लगातार दूसरे दिन इजाफा किया गया है।सरकारी खुदरा ईंधन विक्रेताओं की मूल्य अधिसूचना के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल की कीमत रिकॉर्ड 106.54 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 112.44 रुपये प्रति लीटर हो गयी।वहीं मुंबई में, डीजल अब 103.26 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा है जबकि दिल्ली में इसकी कीमत 95.27 रुपये प्रति लीटर है।कीमतों में बढ़ोतरी का यह लगातार दूसरा दिनमुंबई, 21 अक्टूबर (भाषा) रुपया बृहस्पतिवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले तीन पैसे चढ़कर 74.85 पर पहुंच गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 74.86 पर खुला और फिर 74.85 पर पहुंच गया जो पिछले बंद के मुकाबले केवल तीन पैसे की तेजी को दिखाता है। रुपया बुधवार को अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले 47 पैसे की तेजी के साथ 74.88 पर बंद हुआ था जो करीब दो हफ्ते में उसकी सबसे मजबूत स्थिति थी। इस बीच, छह मुद्राओं की तुलना में डॉलर का रुख दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.01 प्रतिशत चढ़कर 93.56 परभारत ने लोगों के कल्याण के लिए अनुकरणीय क्षमताओं का प्रदर्शन किया: नीति आयोग के उपाध्यक्ष

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
जे पोकर

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) वैश्विक ऊर्जा कंपनी बीपी पीएलसी ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ साझेदारी में मुंबई के पास 'जियो-बीपी' ब्रांड के तहत अपना पहला पेट्रोल पंप खोलने जा रही है। गौरतलब है कि ब्रिटिश कंपनी ने 2019 में एक अरब डॉलर में रिलायंस के स्वामित्व वाले 1,400 से अधिक पेट्रोल पंप और 31 एविएशन टर्बाइन फ्यूल (एटीएफ) स्टेशनों में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी। रिलायंस के मौजूदा पेट्रोल पंपों को इसके बाद दोनों कंपनियों के संयुक्त उद्यम रिलायंस बीपी मोबिलिटी लि. के अधीन कर दिया गया। संयुक्त उद्यम 'जियो-बीपी' ब्रांड के तहत काम करेगा।

एक क्रिकेट मैच निबंध २५० शब्द

Festive Shopping: ​​​एक साल पहले की तुलना में पेट्रोल और डीजल की कीमत 35 फ़ीसदी तक अधिक है। इसी तरह कुकिंग गैस के भाव में 50 फ़ीसदी से अधिक की वृद्धि हुई है।

ऋतु बरसात

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बृहस्पतिवार को 35 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की गयी जिसके साथ देश भर में ईंधन की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गयीं। ईंधन की कीमतों में लगातार दूसरे दिन इजाफा किया गया है।सरकारी खुदरा ईंधन विक्रेताओं की मूल्य अधिसूचना के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल की कीमत रिकॉर्ड 106.54 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 112.44 रुपये प्रति लीटर हो गयी।वहीं मुंबई में, डीजल अब 103.26 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा है जबकि दिल्ली में इसकी कीमत 95.27 रुपये प्रति लीटर है।कीमतों में बढ़ोतरी का यह लगातार दूसरा दिन

स्पोर्ट्स न्यूज़ इन इंग्लिश

OTP: ऑनलाइन या डिजिटल प्लैटफॉर्म पर पेमेंट करते वक्त यूजर्स की ओर से ही पेमेंट किया जा रहा है, यह कन्फर्म करने के लिए मोबाइल पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आता है।

टेक्सास होल्डम त्वरित सुझाव

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) वैश्विक ऊर्जा कंपनी बीपी पीएलसी ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ साझेदारी में मुंबई के पास 'जियो-बीपी' ब्रांड के तहत अपना पहला पेट्रोल पंप खोलने जा रही है। गौरतलब है कि ब्रिटिश कंपनी ने 2019 में एक अरब डॉलर में रिलायंस के स्वामित्व वाले 1,400 से अधिक पेट्रोल पंप और 31 एविएशन टर्बाइन फ्यूल (एटीएफ) स्टेशनों में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी। रिलायंस के मौजूदा पेट्रोल पंपों को इसके बाद दोनों कंपनियों के संयुक्त उद्यम रिलायंस बीपी मोबिलिटी लि. के अधीन कर दिया गया। संयुक्त उद्यम 'जियो-बीपी' ब्रांड के तहत काम करेगा।

संबंधित जानकारी
जोकर पर शायरी

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने बृहस्पतिवार को कहा कि उच्चतम न्यायालय ने कंपनी की 4,000 करोड़ रुपये की इक्विटी पूंजी जुटाने की योजना से जुड़े मामले में प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) के आदेश के खिलाफ दायर सेबी की याचिका को "गैरजरूरी" बताते हुए खारिज कर दिया है। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने कहा कि पिछले हफ्ते उसके निदेशक मंडल ने "तरजीही मुद्दे पर आगे नहीं बढ़ने और प्रस्तावित आवंटियों के साथ कार्यान्वित शेयर सदस्यता समझौते को उनकी संबंधित शर्तों के अनुसार समाप्त करने का फैसला किया था।"इसके साथ ही भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा प्रतिभूति अपीलीय

गरम जानकारी