रेड फायर क्रिट ™

रेड फायर क्रिट ™

time:2021-10-21 20:24:15 यूनिवर्सिटीज और इंजीनियरिंग कॉलेजों में 100 लैब्स खोलेगी इंटेल, जानिए छात्रों को होगा क्या फायदा Views:4591

स्पोर्ट्सबुक केसी रेड फायर क्रिट ™ 10cric कैसीनो ऐप डाउनलोड,betway बनाम परिमैच,लियोवेगास शामिल हों,lovebet ऐप समीक्षा,lovebet एम हिल मृत्युलेख,lovebet निकासी 4 घंटे,एक पोकर रात,बैकारेट सीटी मोंटविल एनजे,बैकरेट कौशल सट्टेबाजी जोड़े,बेटिंग कंपनी १०० जमा करती है और ३०० निःशुल्क प्राप्त करती है,कैसीनो 5 दिन मौसम पूर्वानुमान,कैसीनो श लिज़ेन्ज़ो,क्लासिक रम्मी एप्लीकेशन डाउनलोड,क्रिकेट जीके टेस्ट,डीएच स्पोर्ट्स फुटबॉल,यूरोपीय कप का समय,फ़ुटबॉल नवीनतम बैकअप URL,उत्पत्ति कैसीनो कनाडा,एचडी स्पोर्ट्स टीवी,आईपीएल ब्रेकिंग न्यूज,जैकपॉट फिल्म का गाना,पैसे के लिए लाइव लाठी,लाइव रूले नियम,लॉटरी आज,मिस्टेक कैसीनो पूछो जुआरी,ऑनलाइन कैसीनो भुगतान सुरक्षित,ऑनलाइन पोकर नकद,पाक क्रिकेट खबर,पोकर कुत्ते,पी-स्पोर्ट्सकार्ड24,शाही एक्स,रमी जुनून मोबाइल ऐप डाउनलोड,स्लॉट मशीन बॉर्डरलैंड 2,स्लॉटसेलन 6 रोसुम,स्पोर्ट्सबुक बिलोक्सी,टेक्सास होल्डम ड्रा,चंद्रमा का भेड़िया,रमी के लिए क्या बिंदु हैं,विश्व प्रारंभिक यूरोपीय अनुसूची,इलेक्ट्रॉनिक खेल gk,कैसीनो के खेल lyrics,गोल्डन मुर्गा रिपोर्ट,जोकर वीडियो,फुटबॉल प्राइस,बेटा ठाकुर रमन भवन,लॉटरी कैसे जीते,स्पोर्ट्स फर्स्ट .यूनिवर्सिटीज और इंजीनियरिंग कॉलेजों में 100 लैब्स खोलेगी इंटेल, जानिए छात्रों को होगा क्या फायदा

Story outline

  • इंटेल ने तकनीकी कौशल बढ़ाने के लिए लॉन्च किया इंटेल उन्नति कार्यक्रम
  • अगले एक साल में 100 इंटेल उन्नति डेटा-सेंट्रिक लैब्स स्थापित होंगी
  • इससे देश भर के सिस्टम इंटीग्रेटर्स का एक नेटवर्क मदद मिलेगी
अगले एक साल में 100 इंटेल उन्नति डेटा-सेंट्रिक लैब्स स्थापित होंगी।
नई दिल्ली
चिप बनाने वाली अमेरिका की इंटेल (Intel) ने भारत में इंजीनियरिंग के छात्रों को इंडस्ट्री के लिए जरूरी डेटा-सेंट्रिक स्किल से लैस करने के लिए इंटेल उन्नति कार्यक्रम शुरू करने की घोषणा की। सिस्टम इंटीग्रेटर्स के नेटवर्क के माध्यम से, उभरती तकनीकों से जुड़ी 100 इंटेल उन्नति डेटा-सेंट्रिक लैब्स अगले एक साल में भारत के विश्वविद्यालयों और इंजीनियरिंग संस्थानों में स्थापित किए जाएंगे। यह पहल हायर एजुकेशन संस्थानों को लंबे समय के लिए तकनीकी एवं लैब से जुड़ा बुनियादी ढांचा उपलब्ध कराएगी। इससे देश में रिसर्च एवं इनोवेशन पर अधिक ध्यान केंद्रित किया जा सकेगा।

इंटेल इंडिया की कंट्री हेड निवृति राय ने कहा कि फाउंड्री सर्विसेज तकनीक आज के समय में जितनी जरूरी हो चुकी है उतनी पहले कभी नहीं थी। यह भविष्य के विकास के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। तकनीक से जुड़े उद्योगों की तेजी से बदलती जरूरतों और अपेक्षाओं के साथ तालमेल बैठाने के लिए भारत की युवा प्रतिभाओं को सही इन्फ्रास्ट्रक्चर और पाठ्य सामग्री उपलब्ध कराना बेहद जरूरी है। इंटेल उन्नति डेटा-सेंट्रिक लैब्स शैक्षणिक संस्थानों को देश में तकनीकी कौशल की कमी को खत्म करने, इंडस्ट्री के लिए उभरती तकनीक से लैस युवाओं को तैयार करने और भारत की डिजिटल इकोनॉमी में बदलाव के लिए आवश्यक गति प्रदान करने में मदद करेगी।

7th pay commission: केंद्रीय कर्मचारियों को दिवाली का तोहफा, DA में 3 फीसदी बढ़ोतरी

यह कैसे काम करता है
तकनीक की पहुंच बढ़ाने पर केंद्रित, इंटेल उन्नति प्रोग्राम सभी स्तरों पर शैक्षणिक संस्थानों तक तकनीकी इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध कराने का प्रयास करता है। संस्थानों के पास अपने बजट के अनुसार लैब के प्रकार का विकल्प होगा और यह बताएगा कि वे तकनीक और इंफ्रास्ट्रक्चर के मामले में कहां खड़े हैं। प्रत्येक इंटेल उन्नति लैब में इंटेल के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर, पाठ्यक्रम सामग्री, और छात्रों के लिए को-ब्रांडेड पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए प्रमाणपत्र शामिल होंगे। वर्तमान में, ये लैब एआई, एफपीजीए सॉल्यूशंस और एआईआईओटी के लिए उपलब्ध हैं। इसके साथ ही मोबिलिटी एवं सिक्योरिटी जैसी अन्य तकनीकों पर भी जल्द लैब शुरू की जाएंगी।

राकेश झुनझुनवाला ने अपने पसंदीदा स्टॉक में बढ़ाई हिस्सेदारी, इस साल 60 फीसदी चढ़ चुका है यह शेयर

VIT-AP विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ एस वी कोटा रेड्डी ने कहा कि डेटा-सेंट्रिक तकनीकों पर फोकस के साथ, इंटेल उन्नति लैब्स AI, HPC, FPGA और AIIoT जैसी उभरती तकनीकों में छात्रों को इंडस्ट्री के लिए जरूरी स्किल में दक्ष बनाने के लिए एक बेहतरीन प्लेटफॉर्म प्रदान करती हैं। इंटेल उन्नति हमारे वर्तमान प्रोग्राम और पाठ्यक्रम के साथ बेहतर तरीके से तालमेल बैठाता है। इस प्रोग्राम के कार्यान्वयन में देश भर के सिस्टम इंटीग्रेटर्स का एक नेटवर्क मदद मिलेगी। यह प्रत्येक संस्थान की आवश्यकता के अनुरूप लैब तैयार करने, पाठ्यक्रम के अनुसार फैकल्टी को प्रशिक्षित करने और निरंतर रखरखाव में सहायता प्रदान कर सकता है।

टॉपिक

intel unnati data centric labs100 unnati data centric labsइंटेल लेटेस्ट न्यूजइंटेल उन्नति प्रोग्रामइंटेल उन्नति कार्यक्रमडेटा सेंट्रिक स्किल लैब्सintel latest newsintel india newsskill development newsintel latest update

ETPrime stories of the day

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read
Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read

कोलकाता, 21 अक्टूबर (भाषा) पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने बृहस्पतिवार को तीन अलग-अलग अध्ययनों का हवाला देते हुए दावा किया कि नरेंद्र मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान 2014 से 2020 के बीच उच्च नेटवर्थ वाले 35,000 भारतीय उद्यमियों ने देश छोड़ दिया।उन्होंने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि क्या यह "भय की मनोवृति" के कारण हुआ। उन्होंने मांग की कि प्रधानमंत्री मोदी "अपने शासन के दौरान भारतीय उद्यमियों के भारी पलायन" पर संसद में एक श्वेत पत्र पेश करें। मित्रा ने ट्विटर पर लिखा, "मोदी सरकार के तहत उच्च नेटवर्थ वाले 35,000 भारतीय उद्यमियों ने 2014-2020 केपिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.लंबी अवधि में जमा के लिए पोस्ट ऑफिस का रुख कर रहे हैं निवेशक

विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता हैअपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है.यूनिवर्सिटीज और इंजीनियरिंग कॉलेजों में 100 लैब्स खोलेगी इंटेल, जानिए छात्रों को होगा क्या फायदा

पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है.विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता हैमोदी सरकार के शासन में 2014 से 2020 के बीच 35,000 भारतीय उद्यमियों ने देश छोड़ा: मित्रा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
10cric निकासी प्रक्रिया

बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.

ऑनलाइन कैश गेम प्लेटफॉर्म

मुंबई, 21 अक्टूबर (भाषा) घरेलू शेयर बाजार में कमजोरी के रुख के बीच अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में बृहस्पतिवार को रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले महज एक पैसे की तेजी के साथ 74.87 (अस्थायी) प्रति डॉलर पर बंद हुआ। बाजार सूत्रों ने कहा कि विदेशी बाजारों में डॉलर के मजबूत होने, विदेशी निधियों की धन निकासी और अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल कीमत की मजबूती ने रुपये की तेजी पर अंकुश लगाया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 74.86 रुपये पर खुला तथा कारोबार के दौरान यह 74.69 से 74.89 रुपये के दायरे में रहा और अंत में पिछले

झारखंड cricket

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। सूत्रों के मुताबिक सरकार ने उनके महंगाई भत्ते (DA) में 3 फीसदी बढ़ोतरी का फैसला किया है। इससे 1 करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को फायदा होगा।

यूरोपीय चैम्पियनशिप कार्यक्रम

इंडेक्‍स फंडों की तरह ईटीएफ अमूमन किसी खास मार्केट इंडेक्स को ट्रैक करते हैं. इनका प्रदर्शन उस इंडेक्‍स जैसा होता है.

casumo उत्तम tid

साल में कम से कम एक निवेश की समीक्षा जरूर करें और दोबारा संतुलन बनाएं. अपने लिए पर्याप्‍त लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदें.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
क्रिकेट टीवी

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) स्वास्थ्य सेवा उद्योग के शीर्ष अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को देश के लोगों को दिए जा चुके कोविड-19 टीके की खुराक के 100 करोड़ का आंकड़ा पार करने की सराहना की और इसे ऐतिहासिक क्षण करार दिया। देश में कोविड-19 टीके के प्रमुख प्रदाताओं में से एक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के सीईओ अदार पूनावाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विभिन्न मंत्रालयों और स्वास्थ्य कर्मियों को यह उपलब्धि हासिल करने के लिए बधाई दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, "श्री नरेंद्र मोदी जी, आपको हार्दिक बधाई देता हूं, क्योंकि भारत आज आपके अनुकरणीय नेतृत्व में कोविड टीकाकरण के

आभासी क्रिकेट नॉटिंघम

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) स्वास्थ्य सेवा उद्योग के शीर्ष अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को देश के लोगों को दिए जा चुके कोविड-19 टीके की खुराक के 100 करोड़ का आंकड़ा पार करने की सराहना की और इसे ऐतिहासिक क्षण करार दिया। देश में कोविड-19 टीके के प्रमुख प्रदाताओं में से एक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के सीईओ अदार पूनावाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विभिन्न मंत्रालयों और स्वास्थ्य कर्मियों को यह उपलब्धि हासिल करने के लिए बधाई दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, "श्री नरेंद्र मोदी जी, आपको हार्दिक बधाई देता हूं, क्योंकि भारत आज आपके अनुकरणीय नेतृत्व में कोविड टीकाकरण के